BREAKING NEWS

Friday

भाषा और कलाओं का संगम बना भाषा और कलाओं का संगम बना अंतराष्ट्रीय गीता महोत्सव गीता महोत्सव




रूस और बंगलादेश के पर्यटकों ने की क्राफ्ट और सरस मेले में खरीददारी, रूस सैलानियों का नेतृत्व कर रहे मंगलम रूस में चला रहे है रविन्द्र नाथ टैगोर बाल निकेतन, क्राफ्ट और सरस मेले के 6वें दिन पर्यटकों ने की जमकर खरीददारी, पर्यटक ले रहें है लोक कलाओं का आनंद


कुरुक्षेत्र, 28 नवम्बर। भाषा और कलाओं का संगम बना अंतराष्ट्रीय गीता महोत्सव गीता महोत्सव देश के विभिन्न राज्यों की भाषाओं और कलाओं का संगम बन गया है। इस महोत्सव के ब्रह्मïसरोवर तट पर दूर दराज से आने वाले पर्यटक लोक संस्कृति, नृत्य और शिल्पकलाओं का आनंद ले रहे है। इस महोत्सव की शिल्प कला और लोक कला को देखने के लिए रूस और बंगलादेश के सैलानी भी पहुंचें है। 

अंतराष्ट्रीय गीता महोत्सव के 6वें दिन वीरवार को रूस से 15 सैलानियों का एक ग्रुप और बंगलादेश से 7 सैलानियों का एक गु्रप शिल्प और सरस मेले के साथ-साथ महोत्सव का आनंद लेने के लिए पहुंचा। रूस के गु्रप का नेतृत्व मंगलम कर रहे थे, रूस निवासी मंगलम को भगवान श्रीकृष्ण की धरा कुरुक्षेत्र और हिन्दी से खासा लगाव है, इस लगाव के चलते मंगलम ने रूस में रविन्द्र नाथ टैगोर बाल निकेतन के नाम से हिन्दी संस्थान को चला रहे हे। इसके अलावा बंगलादेश के गु्रप का नेतृत्व पुलकराह कर रहे थे। इन विदेशी सैलानियों ने खादी, कश्मीर के शाल और सूट के साथ- साथ अन्य स्टालों से खरीददारी की और मेले का खूब आनंद लिया।
 
अंतराष्ट्रीय गीता महोत्सव में उत्तर क्षेत्र सांस्कृति केन्द्र पटियाला की तरफ से विभिन्न प्रदेशों से लोक कलाकारों ने आज अपने-अपने प्रदेश की लोक संस्कृति को अपने नृत्यों और पारम्परिक वेश भूषा के माध्यम से प्रदर्शित किया। इन कलाकारों ने अपने-अपने देश की भाषा में लोक गीत गाए, इसलिए भाषा और लोक नृत्यों के मिश्रण ने ब्रह्मïसरोवर के तट पर एक अलग छठा बिखरेने का काम किया। इस अनूठे संगम को देखकर प्रत्येक पर्यटक अपने आप को ब्रह्मïसरोवर की तरफ आने से नहीं रोक पा रहा था। इन कलाओं की संगम स्थली को देखने के लिए दूर दराज से पर्यटकों की संख्या में दिन प्रतिदिन ईजाफा हो रहा है।
 
केडीबी के मानद सचिव मदन मोहन छाबडा ने कहा कि देश विदेश से आने वाले सैलानियों के लिए केडीबी की तरफ से हर तरह के पुख्ता इंतजाम किए गए है। केडीबी का प्रयास है कि किसी भी पर्यटक को रत्ती भर भी परेशानी ना आने दी जाए। इस महोत्सव में लगातार पर्यटकों की संख्या में ईजाफा हो रहा है और आने वाले समय में इस महोत्सव में लाखों की संख्या में पर्यटक आनंद लेने के लिए पहुंचेंगे।

Share this:

 
Copyright © 2020 Discovery Times. Designed by OddThemes