कुरुक्षेत्र प्रदेश के कृषि एवं किसान कल्याण मन्त्री जेपी दलाल द्वारा सोमवार को एकीकृत मधुमक्खी पालन विकास केन्द्र, रामनगर (कुरूक्षेत्र) का निरीक्षण किया गया।

 

डिस्कवरी टाइम्स कुरुक्षेत्र पवन कुमार 
प्रदेश के कृषि एवं किसान कल्याण मन्त्री जेपी दलाल द्वारा सोमवार को एकीकृत मधुमक्खी पालन विकास केन्द्र, रामनगर (कुरूक्षेत्र) का  निरीक्षण किया गया। कृषि मन्त्री का केन्द्र पर पहुंचने पर केन्द्र संचालक डा. बिल्लु यादव, उप-निदेशक उद्यान विभाग ने स्वागत किया
 मौके पर कृषि मन्त्री जेपी दलाल द्वारा सुझाव दिया गया कि मधुमक्खी पालन पर आधारित नव युवको को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के पाठयक्रम या डिप्लोमा कराएं ताकि वो विदेशों में भी रोजगार प्राप्त कर सके तथा देश की बेरोजगारी दुर की जा सके। इसके अलावा कृषि मंत्री ने कहा कि  बागवानी विभाग को सभी उत्पादों का ब्रांड बनाकर व्यवसायिक स्तर पर कार्य करना चाहिए, ताकि उत्पादकों को अपने उत्पाद का उत्तम मूल्य मिल सके। उन्होनें केन्द्र के अधिकारियों को शहद की गुणवत्ता की जांच हेतु प्रयोगशाला को एन.ए.बी.एल. मानक व शहद की बिक्री हेतु कोई अच्छी परियोजना तैयार करने के आदेश दिए। 
कृषि मंत्री ने केन्द्र पर स्थापित शहद प्रसंस्करण इकाई, छत्ता निर्माण इकाई, वैल्यु एडिशन ऑफ हनी लैब व क्वाल्टी कन्ट्रोल लैब का भ्रमण किया और इस दौरान केन्द्र पर अन्य विभिन्न सुधार करने के सुझाव दिये गये। अन्त में केन्द्र पर स्थापित मौन पेटिका निर्माण इकाई में निर्मित उच्च गुणवत्ता के मधुमक्खी के बक्सों को देखकर काफी प्रसन्न हुए। इसके साथ-2 माननीय कृषि मन्त्री जी ने मधुमक्खी किसान उत्पादक संगठन के शहद बिक्री केन्द्र का दौरा किया तथा कॉम्ब हॅनी का भी स्वाद चखा व संगठन की कार्य प्रणाली व बागवानी विभाग द्वारा दी जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। 
इस मौके पर उद्यान विभाग के उप-निदेशक डा. बिल्लु यादव ने बताया कि यह एशिया महाद्वीप का पहला केन्द्र है जो मधुमक्खी पालन के लिए भारत एवं इजराईल के सहयोग से वर्ष 2017-18 में बनाया गया था। इस केन्द्र की स्थापना का मुख्य उद्देश्य आधुनिक तकनीको व संयंत्रो के उपयोग से मधुमक्खी व्यवसाय को वाणिज्य स्तर पर शहद उत्पादन बढ़ाना है। इसके साथ ही स्वस्थ व बीमारी रहित मधुमक्खी कालोनियों के रख रखाव  के लिए प्रबन्धन प्रर्दशन लगाना शहद निकालने भण्डारण प्रसंस्करण टेस्टिंग पैकेजिंग व राष्ट्रीय एंव अन्र्तराष्ट्रीय स्तर पर इसके विपणन को बढाना है। उन्होंने हरियाणा सरकार द्वारा मधुमक्खी क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए दी जाने वाली मूल-भूत सुविधाओं के बारे में भी विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने केन्द्र के आगामी दृष्टिकोण के बारे में जानकारी दी जिसके अन्तर्गत केन्द्र पर स्थापित हनी क्वाल्टी कन्ट्रोल लैब को अपडेट और हनी मण्डी स्थापित करने बारे बताया गया। इस अवसर पर लाडवा के पूर्व विधायक डा. पवन सैनी, बीजेपी के जिलाध्यक्ष धर्मबीर मिर्जापुर, बागवानी विभाग के अधिकारीगण  जोगिन्द्र सिंह, सयुक्त निदेशक उद्यान,  सत्येन्द्र कुमार, उप-निदेशक उद्यान, प्रदीप मिल, उप-निदेशक कृषि व आई.बी.डी.सी. के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहें।


SHARE THIS

Author:

Print Hindi Magazine and Online News

Previous Post
Next Post