गीता श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता में नन्हें बच्चों का शुद्ध संस्कृत उच्चारण सुनकर बड़े बड़े विद्वान भी हुए दंग। - Discovery Times

Breaking

गीता महोत्सव के माध्यम से दुनिया में शांति व भाईचारे का संदेश देने का

गीता महोत्सव के माध्यम से दुनिया में शांति व भाईचारे का संदेश देने का प्रयास:संजय पिहोवा सरस्वती तीर्थ पिहोवा के तट पर तीन दिवसीय गीता म...

Monday, 2 December 2019

गीता श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता में नन्हें बच्चों का शुद्ध संस्कृत उच्चारण सुनकर बड़े बड़े विद्वान भी हुए दंग।







जयराम विद्यापीठ में गीता जयंती महोत्सव पर प्रारम्भ हुई अन्तर्विद्यालय सांस्कृतिक व कला प्रतियोगिताएं ।

कुरुक्षेत्र ( वैद्य पण्डित प्रमोद कौशिक ) : - भगवान श्री कृष्ण के श्री मुख से उत्पन्न हुई पावन श्री गीता के जन्मोत्सव अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव के अवसर पर युवाओं तथा विद्यार्थियों में गीता के प्रति जागरुकता लाने के लिए पिछले करीब दो दशक से गीता पर आधारित विभिन्न वर्ग की प्रदेश स्तरीय सांस्कृतिक एवं कला प्रतियोगिताओं में हजारों विद्यार्थी भाग लेते है। इसी कड़ी में विद्यापीठ परिसर में चार दिन चलने वाली प्रतियोगिताओं में सोमवार को भारत साधु समाज के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं जयराम संस्थाओं के परमाध्यक्ष ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी के सान्निध्य में गीता श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जयराम संस्थाओं के मीडिया प्रभारी राजेश सिंगला ने बताया कि गीता श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता में प्रदेशभर से करीब 40 टीमों ने भाग लिया। गीता श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता के निर्णायक मण्डल में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के  असिस्टेंट प्रोफेसर डा. जितेन्द्र आचार्य तथा डा. चितरंजन कौशल ने जिम्मेवारी निभाई। इस मौके पर प्रतियोगिता में भाग लेने वाले नन्हें बच्चों ने इतनी कुशलता से शुद्ध संस्कृत श्लोक उच्चारण किया कि बड़े बड़े विद्वान भी दंग रह गए। 



प्रतियोगिताओं के परिणाम इस प्रकार रहे -गीता श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता में महाराणा प्रताप पब्लिक स्कूल तथा श्री मती केसरी देवी लोहिया जयराम पब्लिक स्कूल प्रथम की टीम प्रथम रही। श्री महावीर जैन पब्लिक स्कूल, गुरुकुल कुरुक्षेत्र तथा सहारा कॉम्प्रिहेंसिव स्कूल की टीमें दूसरे स्थान पर रही। यूनिवर्सिटी सीनियर सकैंडरी मॉडल स्कूल, महंत प्रभात पुरी गर्ल्ज सीनियर सकैंडरी स्कूल तथा महर्षि विद्या मन्दिर सांवला की टीमें तीसरे स्थान पर रही। इस प्रतियोगिता में दयाल सिंह पब्लिक स्कूल करनाल, जय भारती विद्या मन्दिर, अग्रसेन पब्लिक स्कूल तथा माता रुक्मणि राय आर्य सीनियर सकैंडरी स्कूल की टीमों को सांत्वना पुरस्कार मिला। प्रतियोगिता के समापन पर विद्यापीठ के ट्रस्टियों ने  विजेता टीमों को पुरस्कृत किया। इसी के साथ स्कूलों के अध्यापक-अध्यापिकाओं को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर गीता जयंती आयोजन समिति के सदस्य सेवा निवृत आयुक्त टी के शर्मा, राजेंद्र सिंघल, कुलवंत सैनी, ईश्वर गुप्ता, के के कौशिक, सुरेन्द्र गुप्ता, के के गर्ग, श्रवण कुमार गुप्ता, एस एन गुप्ता, प्राचार्या अंजू अग्रवाल इत्यादि मौजूद थे। 

 विद्यापीठ में गीता जयंती महोत्सव पर आयोजित प्रतियोगिताओं की विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित करते हुए गीता जयंती आयोजन कमेटी के सदस्य तथा विद्यापीठ के ट्रस्टी।