ब्रहमसरोवर के पावन तटों पर लोक कलाकारों ने जमाया रंग, सूचना केंद्र दे रहा है पल-पल की जानकारी - Discovery Times

Breaking

गीता महोत्सव के माध्यम से दुनिया में शांति व भाईचारे का संदेश देने का

गीता महोत्सव के माध्यम से दुनिया में शांति व भाईचारे का संदेश देने का प्रयास:संजय पिहोवा सरस्वती तीर्थ पिहोवा के तट पर तीन दिवसीय गीता म...

Monday, 2 December 2019

ब्रहमसरोवर के पावन तटों पर लोक कलाकारों ने जमाया रंग, सूचना केंद्र दे रहा है पल-पल की जानकारी




क्राफ्ट और सरस मेले में बढऩे लगी पर्यटकों की रौनक, एनजेडसीसी के लोक कलाकारों ने प्रस्तुत किए लोक नृत्य, कच्ची घोड़ी के नृत्य से प्रभावित होकर युवाओं ने भी जमकर किया नृत्य, प्रशासन ने पर्यटकों के लिए किए पुख्ता इंतजाम

कुरुक्षेत्र (अनिल धीमान)  2 दिसम्बर :ब्रहमसरोवर के पावन तटों पर पंजाब, कश्मीर, उतराखंड और हिमाचल के लोक कलाकारों ने पर्यटकों को झुमने पर मजबुर कर दिया। इन लोक कलाकारों ने अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव के दसवें दिन खूब रंग जमाया। इतना ही नहीं कच्ची घोड़ी के लोक नृत्य और नृत्य के साथ बजने वाले पारम्परिक वाद्य यंत्रों की स्वर लहरियों ने युवा पीढ़ी को अपने रंग में रंग लिया। इन युवाओं ने लोक कलाकारों के साथ जमकर नृत्य भी किया।

अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव पर सोमवार को सुबह से लेकर सायं तक हजारों पर्यटको का आना जारी रहा। इन पर्र्यटकों ने क्राफ्ट मेले में देशभर से आए शिल्पकारों की कला को खुब निहारा और जमकर खरीददारी भी की। जहां पर्यटक शिल्पकला का आनंद ले रहे थे, वहीं ब्रहमसरोवर के महिला घाट पर पंजाब की कलाकारों ने गिद्दा, जम्मू-कश्मीर के कलाकारों ने धमाल, उतराखंड के कलाकारों ने छपेली और हिमाचल के कलाकारों ने गद्दी नाटी लोक नृत्य की प्रस्तुती देकर पर्यटकों को अपनी तरफ आर्काषित करने का काम किया। इन लोक नृत्यों की पर्यटकों ने जमकर प्रंशसा भी की हैं।

लोक कलाकारों के साथ-साथ कच्ची घोड़ी के कलाकारों ने पूरे ब्रहमसरोवर पर घूमते-घूमते अपने लोक नृत्य से पर्यटकों को मोहपाश में बांधने का काम किया। इन लोक कलाकारों के नृत्यों और बजने वाली स्वर लहरियों से युवा भी अपने कदमों को रोक नहीं पाए और उन्होंने इन लोक कलाकारों के साथ मिलकर नृत्य किया। उत्तर क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र पटियाला से आए मंच संचालक चन्नी शर्मा ने बताया कि महोत्सव में सोमवार चार राज्यों के कलाकारों ने अपने-अपने प्रदेश के लोक नृत्यों को दर्शकों के समक्ष रखा। उन्होंने कहा कि इस महोत्सव में बाजीगर के ग्रुप, कच्ची घोड़ी के ग्रुप और बहरुपिए के ग्रुप में कलाकार लोगों का लगातार मनोरंजन करने का काम कर रहे हैं। इस महोत्सव में प्रशासन द्वारा किए गए अच्छे इंतजामों की हर कोई प्रंशसा कर रहा हैं।

                                 पर्यटकों को पंसद आए बाजीगरों के करतब

महोत्सव में एनजेडसीसी की तरफ से पर्यटकों का मनोरंजन करने के लिए बाजीगरों के एक ग्रुप को आमंत्रित किया गया। इस ग्रुप के कलाकार ब्रहमसरोवर के घाटों पर आदमी के सिर के ऊपर मटका रखा और मटके के ऊपर आदमी को खड़ा करके जो करतब दिखाए, वे काबिले तारीफ थे। इस करतब पर सभी पर्यटकों ने तालियां बजाई। इसके अतिरिक्त इन कलाकारों ने लोहे ही राड़ को मोडक़र दर्शकों को आश्चर्यचकित कर दिया। यह कलाकार हर वर्ष इस महोत्स्व में आते है और अपने करतबों से पर्यटकों का मनोरंजन करते है।

                             सूचना केंद्र दे रहा है पल-पल की जानकारी

जिला सूचना एवं जन सम्पर्क अधिकारी सुरेश कंवर सरोहा ने बताया कि महोत्सव में देश के कोने-कोने से आने वाले पर्यटकों का मार्गदर्शन करने और पल-पल की अहम सूचनाओं को देने के लिए मुख्य द्वार के स्टाल नम्बर एक पर सूचना केंद्र स्थापित किया गया है। इस सूचना केंद्र पर कर्मचारी दिन-रात लोगों को महोत्सव की महत्वपूर्ण जानकारियां देने का काम कर रहे हैं। इन कर्मचारियों के द्वारा लोगों के खोए हुए समान, अपनों से बिछुड़े लोगों का मिलवाने का काम किया जा रहा है।

अंतराष्ट्रीय गीता महोत्सव पर डीएलएसए कर रहा है आमजन को जागरुक

डीएलएसए द्वारा अंतराष्ट्रीय गीता महोत्सव के अवसर पर ब्रहम सरोवर के तट सरस मेले में स्टाल नम्बर 56-57 पर एक प्रदर्शनी की स्थापना की गई है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव एवं सीजेएम डा. कविता काम्बोज ने कहा कि इस प्रदर्शनी के माध्यम से महोत्सव में आने वाले पर्यटकों व श्रृद्घालुओं को सरकार की स्कीमों, आमजन के अधिकारों, कर्तव्यों, कानूनी पहलुओं इत्यादि की जानकारी दी जा रही है। इस प्रदर्शनी में डीएलएसए द्वारा विभिन्न विभागों जिनमें डीआरओ, सीएससी, बाल कल्याण विभाग, बैंकों, बिजली विभाग व बचपन बचाओ आंदोलन (एनजीओ) की स्कीमों से सम्बन्धित जानकारी देकर जागरुक किया जा रहा है।