मोनू हत्या कांड में शामिल तीन और आरोपी किये गिरफ्तार| - Discovery Times

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

29 September 2020

मोनू हत्या कांड में शामिल तीन और आरोपी किये गिरफ्तार|

 

जिला पुलिस कुरुक्षेत्र की अपराध शाखा-1 ने मोनू हत्या कांड में मुख्य षडयंत्र कारी एक लड़की सहित किया छ आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है मामले में जांच को आगे बढ़ाते हुए जिला पुलिस कुरुक्षेत्र की अपराध शाखा-1 ने मोनू हत्या कांड में तीन अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है | मुख्य षडयंत्र कारी एक लड़की, आरोपी राजेश उर्फ खन्ना पुत्र सेवा राम वासी सोंगल, दिलबाग उर्फ बाग्गा पुत्र फ़क़ीर चन्द वासी हेलवा, राजदीप पुत्र हरिकेश वासी जाजनपुर थाना डांड, जिला कैथल, प्रवीण कुमार पुत्र तिलकराज उर्फ तिलका वासी चीका व सुनील उर्फ लक्खा पुत्र ओमप्रकाश वासी भागल जिला कैथल को गिरफ्तार करके न्यायालय में पेश करके रिमांड पर लिया गया था | जिनको न्यायालय में पेश करके कारागार भेज दिया था | इस मामले में अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी बकाया थी | अपराध शाखा-1 ने मोनू हत्या कांड में आरोपी नवदीप उर्फ छोटा पुत्र पवन कुमार वासी जजवंती जिला जींद, हरिकेश उर्फ टोनी बाबा पुत्र कुलदीप सिंह वासी शिमला हाल संजय कॉलोनी चीका कैथल व शेखर उर्फ हैप्पी पुत्र मुकेश वासी गुमनहेडा थाना छावला दिल्ली को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है | यह जानकारी उप पुलिस अधीक्षक श्रीमती ममता सौदा ने दी |


          यह जानकारी देते हुए श्रीमती सौदा ने बताया कि दिनांक 23 अगस्त 2020 को सोनु पुत्र  रतन सिंह वासी ककराली ने अपने  ब्यान में बताया कि वह ककराली का रहने वाला है और खेती बाडी का काम करता है| उसका छोटा भाई मोनु उम्र करीब 22 साल जो कुवांरा है| कुछ दिन पहले दिलबाग उर्फ बागा S/O फकीर चन्द R/O हेलवा ने अपने साथीयों के साथ उसके मकान के बाहर तुर कॉलोनी पेहवा पर फायर किया था| जिस कारण हमारी इनसे रंजिश चल रही थी| आज उसका भाई मोनु किसी काम से पेहवा शहर आया हुआ था| वह भी किसी काम के लिये पेहवा आया हुआ था| समय करीब 3.45PM पर मुझे उसके दोस्त ने फोन करके बताया कि किसी मोनु को बोहली साहिब गुरुदवारा पेहवा के सामने गोली मार दी है| सुचना मिलते ही वह मोके पर पहुँचा तो देखा कि उसका भाई मोनु अचेत अवस्था में सड़क पर पड़ा था| जिसकी बाई साईड छाती में गोली लगी हुई थी और  बांई टांग पर गोडे से निचे व टखने से ऊपर चोट लगी हुई थी| वह अपने भाई मोनु को एम्बुलैंस मे डाल कर LNJP हस्पताल कुरुक्षेत्र ले आये जहां पर डाक्टर साहब ने उसके भाई मोनु को चैक करके मृत घोषित किया| उसको अपने तौर पर पता चला कि आज उसका  भाई मोनु अपने दोस्त विक्रान्त उर्फ जानु S/O सुनील कुमार वासी पेहवा के साथ उसके मोटर साईकल पर बैठ कर पेहवा चोंक पेहवा से बोहली साहिब गुरुदवारा  की तरफ चला था| जब वह दोनो बोहली साहिब गुरुदवारा पेहवा के गेट से आगे जाकर रुके उसका भाई मोनु मोटर साईकल से नीचे उतर कर खडा हो गया| विक्रान्त मोटर साईकल पर बैठा था उसी समय पिछे से मटमैली रंग की एक कार आई ओर मोटर साईकल के पिछे टक्कर मारी और उसमे से दो लडके उतरे जिनके हाथों मे पिस्तोल थी| जिन्होने उसके भाई मोनु के ऊपर फायर करके गोली मार दी जो छाती मे लगी| जिससे उसके भाई की मृत्यु हो गई। उसके भाई मोनु को दिलबाग उर्फ बागा रामफल S/O नकली राम R/O ककरालीराजदीप R/O झाझनपुरसन्दीप सैनी R/O भागल जिला कैथल ने अपने साथियो के साथ योजना बना कर उसके भाई मोनु की गोली मार कर हत्या की। जिसकी शिकायत पर पुलिस ने हत्या व असला अधिनियम के तहत थाना शहर पेहवा में मामला दर्ज करके जाँच अपराध शाखा-1 के प्रभारी निरीक्षक प्रतीक कुमार को सौंप दी | जिसकी जाँच करते हुए प्रभारी निरीक्षक प्रतीक कुमार ने अपने सहयोगी एसआई देवेन्द्र कुमार, एएसआई विनोद कुमार, एएसआई सतनारायण, हवलदार अरविन्द, गुरबक्स व महिला हवलदार सरला की टीम की सहायता से गुप्त सुचना के आधार पर हत्या की मुख्य सूत्रधार आरोपिया पिंकी पुत्री गोपाल वासी ब्लाक एफ-7 सुल्तानपुरी नार्थवेस्ट दिल्ली हाल किरायेदार संजय बस्ती चीका नीयर पॉवर हाउस चीका को गिरफ्तार करके माननीय अदालत में पेश करके दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया था | जिसने अपनी गिरफ्तारी के दौरान इस वारदात में शामिल अन्य आरोपियों बारे  पुलिस को अहम सुराग दिए थे| जिसके आधार पर  पुलिस ने मामले की जांच को आगे बढ़ाते हुए पुलिस को पता चला की इस वारदात में शामिल दिलबाग उर्फ बाग्गा पुत्र फ़क़ीर चन्द वासी हेलवा व राजदीप पुत्र हरिकेश वासी जाजनपुर शामिल है | जिनको भी पुलिस  की टीम ने  गिरफ्तार करके अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड पर लिया था | जिनको अदालत के आदेश से कारागार भेजा गया था | मोनू हत्या कांड में शामिल अन्य तीन आरोपियों नवदीप उर्फ छोटा पुत्र पवन कुमार वासी जजवंती जिला जींद, हरिकेश उर्फ टोनी बाबा पुत्र कुलदीप सिंह वासी शिमला हाल संजय कॉलोनी चीका कैथल व शेखर उर्फ हैप्पी पुत्र मुकेश वासी गुमनहेडा थाना छावला दिल्ली को अपराध शाखा-1 के प्रभारी निरीक्षक प्रतीक कुमार, उपनिरीक्षक धर्मवीर, रमेश कुमार, सहायक उपनिरीक्षक विनोद कुमार, हवलदार गुरबक्श, अरविन्द, सतपाल, सतीश कुमार व सिपाही प्रिंस की टीम ने कैथल से काबू करके गिरफ्तार कर लिया | जिनको माननीय अदालत में पेश करके तीन दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया | आरोपियों ने पुलिस की पूछताछ पर स्वीकार किया की वह मंजीत महल की गैंग के लिए काम करते है | इनके साथी जीता किठाना, कप्तान उर्फ चिता व दुखी चहल उर्फ जगदीश वासी नरवाना इस समय जेल में बंद है | इन्होने पूछताछ करके यह भी स्वीकार किया की हरिकेश जो की जिला जींद की जेल में हत्या के एक मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा था | जो इस समय पैरोल पर आया हुआ है | पैरोल पर आने के बाद इन्होने छिना झपटी, हत्या का प्रयास आदि की करीब 15 वारदातों को अंजाम दिया हुआ है | हरिकेश उर्फ टोनी बाबा पर धारा 303 लगाई गई है | मामले की जांच जारी है |

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here