एजेंसियों ने खरीदा 46 हजार से ज्यादा किसानों की फसल 71.39 फीसदी धान का उठान कार्य हुआ पूरा:बराड़ - Discovery Times

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

12 October 2020

एजेंसियों ने खरीदा 46 हजार से ज्यादा किसानों की फसल 71.39 फीसदी धान का उठान कार्य हुआ पूरा:बराड़

कुरुक्षेत्र 12 अक्टूबर: उपायुक्त शरणदीप कौर बराड़ ने कहा कि मंडियों में धान की आवक काफी मात्रा में आ रही है, इस आवक में से खरीद एजेंसियों द्वारा अब तक 4 लाख 42 हजार 121 मीट्रिक टन धान की खरीद की जा चुकी है। इस खरीद में से एजेंसियों द्वारा 3 लाख 15 हजार 628 मीट्रिक टन धान के उठान कार्य सहित 71.39 फीसदी धान उठान कार्य पूरा कर लिया गया है।


उपायुक्त ने सोमवार को बातचीत करते हुए कहा कि जिला कुरुक्षेत्र की मंडियों व खरीद केन्द्रों में 11 अक्टूबर तक 4 लाख 42 हजार 121 मीट्रिक टन धान की खरीद की जा चुकी है। इसमें से 3 लाख 15 हजार 628 मीट्रिक टन धान की लिफ्टिंग का कार्य एजेंसियों द्वारा पूरा किया जा चुका है। अहम पहलू यह है कि एजेंसियों द्वारा धान उठान कार्य को भी साथ-साथ किया जा रहा है। इसके साथ-साथ डीएफएसी विभाग के अधिकारियों की डयूटी मंडियों में लगाई गई है ताकि मंडियों में धान लेकर आने वाले किसानों को किसी परेशानी का सामना न करना पड़े। 

उन्होंने कहा कि जिले में खरीद केन्द्रों पर धान की खरीद का कार्य सुचारु रुप से चल रहा है। जिला कुरुक्षेत्र के सभी मंडियों व खरीद केंद्रों से सभी एजेंसियों के खरीद कार्य व उठान कार्य से सम्बंधित रिपोर्ट डीएफएससी द्वारा एकत्रित की जा रही है। उन्होंने कहा कि जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक की रिपोर्ट के आधार पर जिला कुरुक्षेत्र मंडियों व खरीद केन्द्रों से 4 लाख 42 हजार 121 मीट्रिक टन धान खरीदी गई है। इस आवक में से फूड सप्लाई विभाग ने 3 लाख 13 हजार 375 मीट्रिक टन, हैफेड ने 1 लाख 28 हजार 506 मीट्रिक टन व एफसीआई द्वारा 240 मीट्रिक टन धान की खरीद का कार्य पूरा किया है। इसमें से फूड सप्लाई विभाग ने 2 लाख 29 हजार 212 मीट्रिक टन व हैफेड ने 86 हजार 416 मीट्रिक टन धान उठान कार्य सहित कुल 3 लाख 15 हजार 628 मीट्रिक टन धान का उठान कार्य पूरा हो चुका है।

उन्होंने कहा कि खरीफ सीजन के दौरान कुरुक्षेत्र जिले में अब तक करीब 48 हजार किसानों की धान की फसल जिला खाद्य आपूति, हैफेड व एफसीआई द्वारा खरीदी जा चुकी है। सभी किसानों को फसल का न्यूनतम निर्धारित मुल्य दिया जा रहा है। मंडियों में धान खरीद कार्य के साथ-साथ धान उठान कार्य को भी निरंतर किया जाए। अधिकारी धान उठान कार्य को ओर तेजी से करवाना सुनिश्चित करे। सम्बन्धित अधिकारी निरंतर मंडियों का दौरा करे और किसानों व व्यापारियों से बातचीत करे, अगर कोई समस्या आती है तो उसे तुरंत दूर करवाना सुनिश्चित करे।

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here