विदेश भेजने के नाम पर मानव तस्करी, जालसाजी तथा दबाव बना कर धोखाधड़ी करने के आरोप में किया गिरफ्तार - Discovery Times

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

16 October 2020

विदेश भेजने के नाम पर मानव तस्करी, जालसाजी तथा दबाव बना कर धोखाधड़ी करने के आरोप में किया गिरफ्तार

    


जिला पुलिस कुरुक्षेत्र ने विदेश भेजने के नाम पर मानव तस्करी, जालसाजी तथा दबाव बना कर धोखाधड़ी करने के आरोप में किया एक गिरफ्तार | जिला पुलिस कुरुक्षेत्र ने विदेश भेजने के नाम पर मानव तस्करी, जालसाजी तथा दबाव बना कर धोखाधड़ी करने के आरोप में सुरेन्द्र उर्फ सिन्दर पुत्र भरत सिंह वासी गाँव कुराना थाना मतलोडा जिला पानीपत को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है | यह जानकारी पुलिस प्रवक्ता ने दी |

यह जानकारी देते हुए पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि अकिंत ग्राक पुत्र श्री पवन कुमार निवासी ग्राम मथाना कुरुक्षेत्र ने पुलिस अधीक्षक कुरुक्षेत्र दी शिकायत के आधार पर दिनांक 22 जुलाई 2020 को थाना सदर थानेसर में दर्ज मामले में पुलिस की जांच पर पाया गया कि वह विदेश जाने का इच्छुक था | आरोपी सुरेन्द्र उर्फ सिन्दर पुत्र भरत सिंह गाँव कुराना थाना मतलोडा जिला पानीपत ने उसके पिता के साथ बातचीत करके उसको विदेश अमेरिका भेजने के लिए विश्वास दिलवाया | उसको विदेश अमेरिका में भेजने के लिए आरोपी से 17 लाख रूपये में बात तय हुई थी | दिनांक 05 फरवरी 2019 को उसके पिता ने आरोपी को  5,00,000/- रूपये की नकद व उसके कागजात जिसमे पासपोर्ट व आई.डीफोटो इत्यादी आरोपी को दे दिये | जिसने आश्वासन दिया कि 21 दिन के अन्दर-वह एक नम्बर का वीजा लगवाकर उसे विदेश अमेरिका भेजा देगा। दिनांक 10 फरवरी 2019 को आरोपी ने उसे दिल्ली ऐयरपोर्ट बुलाया औऱ यह भी कहा कि कुछ पैसे लेकर आना | वह दिल्ली ऐयरपोर्ट पर पहुंचा गया जहां पर आरोपी ने उसको एयर टिकट व वीजा दिया | दिनांक 10 फरवरी 2019 को अमेरिका के लिए फलाईट करवा दी | उसके बाद दिनांक 14 फरवरी 2019 को उसको ईक्वाडोर पहुंचाया गया | वहां पर उसको एक आदमी मिला जो उसको एक होटल में ले गया | जिसके बारे में उसने अपने परिवार वालों को फोन पर सुचना दी कि वह इस समय अमेरिका न जाकर इक्वाडोर में है । अगले दिन वहां से एक अन्य आदमी उसको यह कहकर ले गया कि तुम्हारी आगे की फलाईट है | जो उसको झूठ बोल कर बस में बैठा कर किसी अन्य अनजान जगह पर ले गया | वहां पर उस आदमी ने उसका पासपोर्ट व मोबाईल छीन कर उसके साथ बुरा व्यवहार करते हुए धमकी दी कि वह चुपचाप बैठे रहो | उसके कुछ दिन बाद उसका उसके परिवार से फोन पर सम्पर्क हुआ | फोन पर संपर्क होने के उपरांत उसने अपने परिवार वालों को बताया कि आरोपी ने उसे अवैध तरीके से भेजा है |जहाँ उसे भूखा प्यासा रखा जा रहा है | उसके पास पैसे भी नहीं है | उसका पासपोर्ट व मोबाईल भी छीन लिये गया है । जब उसके परिवार वालों से आरोपी से बातचीत की तो आरोपी ने  लाख रूपये ओर देने को कहा और कहा कि पैसे नहीं दिए तो आपके लड़के को वहीं पर छोड दिया जायेगा । उसके परिवार वालों नेउसकी जान बचाने के लिए तथा उसकी विदेश में सैटलमेंट करवाने के लिए आरोपी द्वारा बार-पैसों की मांग करने पर उसकी जान को बचने के लिए उसके परिवार वालों ने अलग अलग तारीखों में 6 लाख 88 हजार रुपये की राशि की गई | उसके बाद एक व्यक्ति ने उसकी फलाईट मैक्सिको से तेजवाना के लिए करवाई और उस व्यक्ति ने उसको कहा कि वह अमेरिका की दीवार को कूद कर अपनी जान बचा सकता | जैसे ही वह दीवार कूद कर वहां से अमरीका में प्रवेश करने लगा तो उसको पुलिस ने पकड़ लिया और जेल में डाल दिया | जिसकी सूचना उसके परिवार वालों ने आरोपी को दी। आरोपी ने उसको जेल से छुड़वाने के लिए उसके परिवार से चार लाख रुपये की और मांग की। उसके परिवार वालो ने उसकी जान बचाने व जेल से छुड़वाने के लिए आरोपी को चार लाख रुपये 28 फरवरी 2020 को दिए। इस प्रकार आरोपी ने उसको अमेरिका भेजने के नाम पर मैक्सिको वगैरा में भेजकर, प्रताड़ित करके उसके परिवार से 17 लाख रुपये की धोखाधड़ी की है। जिसकी शिकायत पर पुलिस ने 22 जुलाई 2020 को मामला दर्ज करके आरोपी की तलाश शुरु कर दी। गत दिवस थाना सदर थानेसर के प्रभारी उप निरीक्षक नरेश कुमार की टीम ने आरोपी को काबू करके गिरफ्तार किया। जिसको माननीय अदालत से 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लेकर आगामी जांच की गई। आरोपी को माननीय अदालत के आदेश कारागार भेज दिया।| जांच जारी है |

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here