सुरक्षा चक्र को मजबूत करने के लिए प्रिकॉशन डोज लेना बहुत जरुरी कोरोना बचाव से :मुकुल - DISCOVERY TIMES I डिस्कवरी टाइम्स

Breaking News

10 January 2022

सुरक्षा चक्र को मजबूत करने के लिए प्रिकॉशन डोज लेना बहुत जरुरी कोरोना बचाव से :मुकुल

कुरुक्षेत्र 10 जनवरी 2022  ( मंजुला ) :उपायुक्त मुकुल कुमार ने कहा कि कोरोना महामारी के नए वेरिएंट ओमिक्रोन से बचाव करने के लिए प्रत्येक नागरिक को अपना सुरक्षा चक्र मजबूत करना होगा। इस सुरक्षा चक्र को मजबूत करने के लिए सरकार की तरफ से शेड्यूल निर्धारित किया है। इस शेड्यूल के अनुसार फ्रंट लाईन वर्कर, हेल्थ वर्कर और 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के गंभीर बीमारियों से ग्रस्त मरीजों को सबसे पहले प्रिकॉशन डोज दी जाएगी। इस अभियान का आगाज कुरुक्षेत्र में कर दिया गया है।

उपायुक्त मुकुल कुमार सोमवार को एलएनजेपी नागरिक अस्पताल में बूस्टर डोज देने की शुरुआत के दौरान बातचीत कर रहे थे। इससे पहले उपायुक्त मुकुल कुमार, सीएमओ डा. सुखबीर सिंह ने एलएनजेपी अस्पताल में प्रिकॉशन डोज अभियान का विधिवत रुप से शुभारंभ किया। इसके बाद उपायुक्त ने वैक्सीनेशन सेंटर का दौरा किया और स्टाफ के साथ बातचीत भी की। इस दौरान जिला सिविल सर्जन ने फ्रंट लाइन वर्कर के रुप में सबसे पहले बूस्टर डोज लेकर इस वैक्सीनेशन की शुरुआत की है। उपायुक्त ने कहा कि सरकार के निर्देशानुसार बूस्टर डोज लगना शुरू हो गई है। कोरोना वैक्सीन की यह तीसरी खुराक बूस्टर डोज के रूप में दी जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 दिसंबर को ही बूस्टर डोज को लेकर ऐलान किया था। यह तीसरी खुराक फिलहाल हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ गंभीर बीमारियों से ग्रसित वरिष्ठ नागरिकों को ही दी जाएगी। गंभीर बीमारियों से ग्रसित वरिष्ठ नागरिक अपने डॉक्टर की सलाह पर ही बूस्टर डोज ले सकेंगे। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से साफ किया गया है कि बूस्टर डोज खुराक के लिए किसी भी प्रकार के पंजीकरण के आवश्यकता नहीं पड़ेगी। पुराने पंजीकरण के आधार पर ही उन्हें कोरोना वैक्सीन की तीसरी खुराक दी जाएगी। इसके लिए कोविन एप पर बदलाव किया गया है। एप पर तीसरे डोज को लेकर फीचर जोड़ दिया गया है। ऐसे में आप सीधे इस फीचर के जरिए अपॉइंटमेंट ले सकते है।


उपायुक्त मुकुल कुमार ने कुरुक्षेत्र में किया प्रिकॉशन डोज देने के अभियान का शुभारंभ, हेल्थ वर्कर, फ्रंट लाईन वर्कर को लगाई जाएगी प्रिकॉशन डोज

उन्होंने कहा कि इसके अलावा सीधे वैक्सीनेशन सेंटर जाकर तीसरी खुराक लगवा सकते है। यहां भी आपको नया पंजीकरण करवाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। जिसको कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक लग चुकी हैं और नौ महीने का समय बीत चुका है, तभी आप तीसरी खुराक के लिए पात्र होंगे। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से उन लोगों को मैसेज भेजा जा रहा है, जो नौ महीने पहले वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके हैं। इसके अलावा मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि अगर किसी को मैसेज नहीं मिलता है तो वह खुद से अपनी दूसरी खुराक के बीच अंतर देख सकता है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसको लेकर भी साफ कहा है कि तीसरी डोज उसी वैक्सीन की दी जाएगी, जो आपको पहले से लगी है। यानी अगर आपने कोरोना वैक्सीन कोवॉक्सिन को दोनों डोज लिए हैं तो तीसरा डोज भी इसी का लगेगा। इसी तरह कोविशील्ड लेने वाले लोगों को कोविशील्ड की ही एहतियाती खुराक दी जाएगी। एहतियाती खुराक लगवाने के लिए वोटर आईडी, आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस में से कोई एक पहचान पत्र लेकर जरूर जाएं

No comments:

Post a Comment